Get Your Free Audiobook

After 30 days, Audible is ₹199/mo. Cancel anytime.

OR

Publisher's Summary

कहानियाँ
 

कहानियों का क्या है?
 

वो तो सिर्फ़ कहानियाँ हैं
 

कुछ कहना हो तो एक कहानी
 

कुछ ना कहना हो तो एक और कहानी
 

हर किसी की अपनी एक कहानी है
 

और तो और कहानियों की भी अपनी एक कहानी है
 

कुछ कहानियाँ मेरी हैं
 

कुछ कहानियाँ आपकी भी होंगी
 

कुछ यूँ ही कहीं हवा में उड़ती-फिरती हैं, जिसके हाथ लग जाएँ, वो उसकी
 

कुछ कहानियाँ कहीं खो सी गई हैं
 

किसी दिन पानी के बुलबुले-सी ऊपर निकलकर आएँगी
 

और कुछ हैं मनमौजी कहानियाँ भी, जो मचा रही हैं उछल-कूद घर के हर कमरे में
 

फिर निकलेंगी शाम को टहलने गलियों में
 

ऐसी ही कुछ कहानियों को बटोरकर, बाँध दिया है पोटली में
 

पन्ना पलटते ही ये सारी पोटली आपकी, ये सारी कहानियाँ आपकी
 

पसंद आए तो, पोटली को ग़ुब्बारे की डोर में बाँध आगे बढ़ा देना
 

बाकी की कहानियाँ, अगली बार
 

#कहानीवाला 

Please note: This audiobook is in Hindi.

©2019 Sandeep Dobriyal (P)2020 Audible, Inc.

What listeners say about #Kahaniwala (Hindi Edition)

Average Customer Ratings

Reviews - Please select the tabs below to change the source of reviews.

No Reviews are Available