Get Your Free Audiobook

Listen with Audible free trial

₹199.00/month

1 credit a month to use on any title to download and keep
Listen to anything from the Plus Catalogue—thousands of Audible Originals, podcasts and audiobooks
Download titles to your library and listen offline
₹199 per month after 30-day trial. Cancel anytime.
Buy Now for ₹350.00

Buy Now for ₹350.00

Pay using card ending in
By confirming your purchase, you agree to Audible's Conditions of Use and Amazon's Privacy Notice.

Publisher's Summary

इंसान का मन विचार निर्माण करने की फैक्टरी है जिससे बिना रुके विचार प्रकट हो रहे रहे हैं। अनचाहे, जमा हो चुके विचारों की वजह से तनाव और दुःख का निर्माण होता है। क्या इन विचारों को नियंत्रित किया जा सकता है... कोई दिशा दी जा सकती है... या इन्हें रोका जा सकता है... क्या इन विचारों का निर्माण लाभ देनेवाले, सकारात्मक रूप से हो सकता है। इस पुस्तक में सरश्रीजी विचारों के नियमों को समझाते हैं। विचारों को कैसे नियंत्रित किया जाए तथा दिशाहीन विचारों को कैसे उपयुक्त दिशा देकर उनसे कार्य करवाया जाए।

विचार नियम क्या है?

क्या यह संभाव है विचार नियम के इस्तेमाल से इंसान के द्वारा कुछ भी प्राप्त किया जा सकता है?

क्या यह संभव है कि दो परस्पर विरोधी विचारों के परिणाम वास्तविक जीवन में देखने को मिलते हैं?

हमारे जीवन को विचार नियम कब, क्यों और कैसे प्रभावित करते हैं?

मन को पुराने नकारात्मक विचारों से मुक्ति कैसे मिले?

यह कैसे पता चले कि कोई घटना दिव्य योजना के अनुसार हो रही है या नहीं?

हमारे अवचेतन मन की प्रोगामिंग कब और कैसे होती है तथा क्या उस प्रोग्रामिंग को बदला जा सकता है?

विचारों के ध्यान के लिए कौनसी मूल बातें हैं?

Please note: This audiobook is in Hindi.

©2020 Tejgyan Global Foundation (P)2020 WOW Publishings

What listeners say about Vichar Niyam [Power of Happy Thoughts]

Average Customer Ratings
Overall
  • 4.5 out of 5 stars
  • 5 Stars
    6
  • 4 Stars
    0
  • 3 Stars
    1
  • 2 Stars
    0
  • 1 Stars
    0
Performance
  • 4.5 out of 5 stars
  • 5 Stars
    5
  • 4 Stars
    2
  • 3 Stars
    0
  • 2 Stars
    0
  • 1 Stars
    0
Story
  • 5 out of 5 stars
  • 5 Stars
    6
  • 4 Stars
    1
  • 3 Stars
    0
  • 2 Stars
    0
  • 1 Stars
    0

Reviews - Please select the tabs below to change the source of reviews.

Sort by:
Filter by:
  • Overall
    3 out of 5 stars
  • Performance
    4 out of 5 stars
  • Story
    4 out of 5 stars

book jyada achha hain audible se

hamne book padi thi book bahut jyada achha hain book me saari niyam ekdam dimak tak jaate hain audible me utna achha nahi laga jitna ki hina chahiye tha

  • Overall
    5 out of 5 stars
  • Performance
    5 out of 5 stars
  • Story
    5 out of 5 stars

beautiful

I loved this book and gonna continue to read it again & again .Very well explained n well narrated
thank you soooo much 😊😊😊